कठुआ और उन्नाव रेप कांडों पर सुधांशु त्रिवेदी और अंजना ओम कश्यप आपस में भीड़ गए! 

हमारे देश में जिस तरह रेप और महिलाओं के साथ अपराध की घटनाओं में वृद्धि हुई है, यह बेहद चिंताजनक विषय है| लेकिन, जिनके साथ रेप हो रहे हैं, वे तो बिना वजह जुल्म का शिकार हो रहे हैं, और बाद में इन घटनाओं का फायदा उठाते हैं राजनेता और राजनीतिक पार्टीयाँ| अपने थोड़े से फायदे के लिए ये लोग आरोप प्रत्यारोप करने लगते हैं और अपराध की शिकार महिलाओं और लड़कियों को इन्साफ देना भूल जाते हैं|

और उसके बाद शुरू होता है रेप पर बहस का सिलसिला, और उसमे भी बजाए विक्टिम को न्याय दिलाने के लिए राजनीति को ही केंद्र बिंदु रखा जाता है| लेकिन, उन्नाव और कठुआ रेप के बाद मीडिया ने सख्त रुख अपनाते हुए सत्ता पक्ष और विपक्ष से तीखे सवाल किए हैं|

और ऐसे ही एक लाइव सवाल-जवाब के मौके पर इन रेप घटनाओं को लेकर भाजपा प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी और अंजना ओम कश्यप आपस में भीड़ पड़े|

अंजना ने योगी सरकार पर लगाया आरोपियों पर कार्रवाई को लेकर ढील बरतने का आरोप, सुधांशु ने दी सफाई! 

अंजना ने पहले ओवैसी से सवाल किए जिसके बाद सुधांशु जी से उन्नाव रेप पर प्रश्न किए गए| अंजना ने पूछा, सरकार आरोपियों पर कारवाई की हिम्मत नहीं कर पाती जब तक कि CBI एक्शन न लेती| क्या इस पर आपका सर शर्म से नहीं झुकता?

इसके जवाब ने सुधांशु ने सफाई दी कि घटना होना एक चीज है और घटना पर सरकार की प्रतिक्रिया अलग बात है| घटना के बाद आरोपी विधायक जेल में और फिर नार्को टेस्ट की तैयारी हो गई, इस से ज्यादा आप क्या चाहते हैं? इसके जवाब में अंजना ने कहा कि यह काम CBI ने किया है न कि योगी की पुलिस ने|

और यदि योगी आदित्यनाथ की पुलिस एस एमें भी कोई एक्शन नहीं ले पाती, तो यह शर्मनाक है| सारी बहस के लिए देखें लाइव बहस का यह विडियो:

बहस सुनने के बाद कौन सही है और कौन गलत इस पर अपनी राय हमें आप कमेंट सेक्शन में दे सकते हैं|

By: Sharma on Saturday, April 21st, 2018