अपने एकाउंट में कम से कम रखे इतना पैसा, नहीं तो बैंक लगा देगी चार्ज!

अगर आप एक SBI खाता धारक हैं, तो ये सब जानकारी आपके लिए बहुत जरूरी और फायदेमंद है| क्योंकि अब अगर बैंक के द्वारा सुझाई गयी कम से कम धनराशी अपने अकाउंट में मेन्टेन करने में आप सफल नहीं रहते, तो आपका बैंक आप पर चार्जेज लगा देगा!

हाल ही में अन्य बैंकों की तर्ज पर स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया ने भी मिनिमम बैलेंस को लेकर नए नियम और निर्देश जारी किया थे| इन नयी शर्तों के अंतर्गत यदि आपके अकाउंट में जमा राशि बैंक द्वारा तय किये गए मिनिमम बैलेंस से काम है, तो आप पर फाइन लगाया जाएगा| यानी, इस लापरवाही के एवज में आपका बैंक आपसे पैसे वसूलेगा!

जानिये SBI के मिनिमम बैलेंस की नयी शर्तें:

दरअसल, अब SBI ने ऐसे चार्जेज लगाने के लिए खाता धारकों को तीन अलग कैटेगरीज़ में बांटा है| उदाहरण के तौर पर, यदि आप एक मेट्रो सिटी के रहने वाले कस्टमर हैं, तो आपको काम से काम 3,000 रूपए का मिनिमम बैलेंस अपने अकाउंट में रखना जरूरी है| ऐसे में, यदि आपका मंथली एवरेज बैलेंस (MAB) रूपए 2999 से लेकर 1500 के बीच रहता है, तो आपको 30 रुपए फाइन देना होगा| और अगर महीने के अंत में आपका एवरेज बैलेंस 1499 से 750 रुपए रहता है, तो आपकी पेनल्टी हो जाती है 40 रूपए। यदि आपका बैलेंस 750 रुपए से भी कम होता है, तो आपका जुर्माना हो जाता है 50 रुपए।

पहले मेट्रो सिटीज से सम्बन्ध रखने वाले खाता धारकों के लिए मिनिमम बैलेंस रूपए 5,000 तय किया गया था|

SBI ने अपने अर्बन कस्टमर्स के लिए भी 3,000 रूपए का ही मिनिमम बैलेंस तय किया है| और दूसरी तरफ, सेमि-अर्बन अकाउंट होल्डर्स के लिए यह राशि 2 ,000 तय की गयी है| इस कैटेगरी में अगर खता धारक का बैलेंस रूपए 1999 से लेकर 1 हजार के बीच रहता है, तो पेनल्टी 20 रूपए रहेगी| और अगर मिनिमम बैलेंस रूपए 999 से 500 के बीच हो तो 30 रुपए का फाइन देना होगा| कस्टमर का बैलेंस यदि 500 रुपए से भी कम हो तो 40 रुपए का फाइन कस्टमर्स को चुकाना होगा|

अब बारी आती है रूरल कस्टमर्स की, तो इनके लिए मिनिमम बैलेंस रखा गया है 1,000 रूपए| इस केटेगरी में भी चार्जेज बिलकुल सेमि-अर्बन कस्टमर्स की तरह ही रखे गए हैं|

Source: Sachikhabar 




By: Sharma on Wednesday, December 6th, 2017

get I Suppport Namo app here