बाबर का वंशज राजकुमार कूद पड़ा राम मंदिर विवाद में , कहा “अगर वहां राम मंदिर बना तो मैं…”

अयोध्या में राम मंदिर बनने का मामला दिनों दिन विवादों के घेरे में धंसता हुआ नजर आ रहा है. जहाँ हिंदू धर्म के तमाम लोग अयोध्या में राम मंदिर बनाने के पक्ष में खड़े हैं, वहीँ दूसरी ओर कुछ मुस्लिम समुदाय के लोग यहाँ मंदिर की जगह मस्जिद बनवाने की जिद्द पर अड़े हुए हैं. आपको बता दें कि राम मंदिर बनाने का यह मामला अभी तक सुप्रीम कोर्ट में चल रहा है. ऐसे में सुप्रीम कोर्ट ही यह फैसला करेगा कि अयोध्या में मंदिर बनेगा या मस्जिद. बहरहाल, इसी विवाद में इन दिनों मुगल बादशाह बहादुर शाह ज़फर का वंशज बताने वाले याकूब हबीबुद्दीन तुसी ने हाल ही में राम मंदिर को लेकर एक विवादित बयान दिया है जिसने कईं सेक्यूलरों की बोलती बंद कर दी है.

आपको बता दें कि अयोध्या में राम मंदिर बनाने के विषय में कईं बार आपसी सहमती की बात सामने आई लेकिन कुछ मुस्लिम संगठनों ने इस सहमती का विरोध जारी रखा जिससे यह मामला चाह कर भी नहीं सुलझ पा रहा. वहीँ बाबर के वंशज हबीबुद्दीन ने हाल ही में राम मंदिर के विषय में ऐसी बात कही है, जिससे कईं लोगों की जुबान पर ताला लगाया जा सकता है. दरअसल, उन्होंने कहा कि यदि अयोध्या में राम मंदिर बनाने का आदेश कोर्ट देती है तो उन्हें इस फैसले से कोई आपत्ति नहीं होगी. इतना ही नहीं बल्कि उन्होंने कहा कि वह कोर्ट के इस फैसले का मान रखते हुए मंदिर की पहली ईंट भी खुद ही रखेंगे.

हबीबुद्दीन ने कहा कि, “सालों पहले बाबर ने हुमायूँ को एक ख़त लिखा था कि उनके कमांडर मेरे ब्बाकी ने अयोध्या में जो हरकत की उससे सारे तैमूर वंश पर कलंक लग चुका है. बाबर ने अपनी वसीयत में लिखा था कि यदि हिंदुस्तान पर शासन करना है तो 70 महंतो का एहतराम करो और मंदिरों की हिफाजत करो और सबको बराबर न्याय दो.” हबीबुद्दीन के अनुसार उनके मुगल साम्राज्य ने आज तक हिंदू धर्म को आहत नहीं किया और मेरे बाकी की करतूत से आज भी वह हिंदुयों से माफ़ी मांगते चले आए हैं. चलिए देखते हैं बाबर के वंशज के बयान का यह विडियो-

Source

By: Kirti Kalra on Monday, September 17th, 2018