Live शो में पियूष गोयल ने मीडिया को किया बेनकाब, हॉल तालियों से गूंज उठा

जब भी देश में कुछ गलत होता है या किसी तरह की कोई मनमानी होती है तो मीडिया सच सामने लाने में बहुत बड़ी भूमिका निभाती है| यूँ कह सकते हैं की आज के समय में हर किसी को मीडिया से बड़ी आस रहती है की उसके रहते किसी कुछ गलत नहीं हो सकता, और अगर होता भी है तो उसके माध्यम से सामने जरूर आएगा!

लेकिन स्थिति उस समय हास्यास्पद हो जाती है जब खुद मीडिया ही बेतुकी बातें करे, या फिर बिना सुबूत और आंकड़ों के किसी तरह का कोई दावा करे| और ऐसा ही कुछ हुआ एक प्रेस कांफ्रेंस में जहाँ मीडिया से मुखातिब थे रेल मंत्री पियूष गोयल| सवाल बेतुका था और पियूष ने भी सवाल करने वाले को बख्शने की जगह ऐसा जवाब दिया की सबकी बोलती ही बंद हो गई|

2019 के चुनावों में होने वाले खर्च को लेकर पियूष से किया गया सवाल, दिया मुहतोड़ जवाब 

 

मीडिया से बातचीत के दौरान पियूष गोयल से एक मीडिया कर्मी ने आने वाले आम चुनावों पर एक सवाल किया| उसने पूछा की ऐसी खबर है की आने वाले 2019 के इलेक्शनस के लिए राजनीतिक पार्टियों को 34,000 करोड़ की जरूरत पेश आ रही है, इस बारे में आप क्या कह सकते हैं|

इस पर बिना कोई समय गवाए पियूष ने इस सवाल को गलत साबित कर दिया| उन्होंने जवाब दिया की यह साफ़ साफ़ फेक न्यूज़ का उदाहरण है| यदि आप ऐसा कहते हैं कि चुनावों में 34,000 करोड़ खर्च किए जाने हैं, तो 543 सीटों के लिए 80 करोड़ रूपए एक सीट के लिए लगेंगे| और यदि ऐसा होता है तो देश की तो सारी अर्थव्यवस्था ही गड़बड़ा जाएगी|

मीडिया हाउस भी जवाब दें की उनके पास पैसा कहाँ से आता है: पियूष गोयल 

पियूष ने कहा की हमारी पार्टी का तो सारा लेखा जोखा वेबसाइट पर दिया रहता है की कितना खर्च कहाँ किया गया| उनके मुताबिक़ पहले में मीडिया ने अफवाहें फैलाई थी की बीजेपी ने 5000 करोड़ विज्ञापनों में खर्च किया, जबकि हर चीज का बाकायदा ऑडिट होता है|

इसके साथ ही उन्होंने मीडिया से उल्टा प्रश्न किया की पहले खुद मीडिया को भी ट्रांसपेरेंट होना चाहिए| वे भी बताएं की उनके पास पैसा कहाँ से आता है| इस प्रश्न पर खूब तालियाँ बजीं, लेकिन मीडियाकर्मी इसका कोई जवाब ही नहीं दे पाए|

By: Sharma on Friday, April 13th, 2018