नास्त्रेदमस ने की साल 2019 के लिए चौंका देने वाली भविष्यवाणियां

जहाँ एक तरफ़ हिंदू धर्म के शास्त्रों में कलयुग और धरती के अंत का उल्लेख मिलता है, वहीँ फ़्रांसिसी भविष्यवेत्ता माइकल द नास्त्रेदमस ने भी मरने से पहले ही ऐसी कईं बातों के बारे में संकेत दे दिए थे. नास्त्रेदमस एक ऐसे व्यक्ति थे जिनकी भविष्यवाणियाँ पिछले कईं वर्षों से सही साबित होती चली आई हैं. पूरी दुनिया में शायद ही ऐसा कोई शक्स होगा, जो नास्त्रेदमस की भविष्यवाणी को ना मानता होगा. गौरतलब है कि नास्त्रेदमस ने आने वाले साल 2019 को लेकर जो भाव्स्य्वानी की थी, वह हम लोगों के लिए अच्छी ख़बर नहीं है. नास्त्रेदमस के अनुसार अगला वर्ष मानवता के विनाश का साल है जो हँसते खेलते लोगों को जिंदगियां उजाड़ने की ताकत रखेगा.

बता दें कि नास्त्रेदमस की भविष्यवाणी के अनुसार आने वाला साल सृष्टि के खत्म होने का संकेत दे रहा है. नास्त्रेदमस ने तृतीय विश्व युद्ध, पश्चिमी दुनिया के पतन और एस्टरॉयड के बारे में कुछ बातें कही हैं, जिसके सच होने का पूरा अनुमान लगाया जा रहहा है. व्याख्याकारों के अनुसार नास्त्रेदमस की यह सभी बातें अगले वर्ष सच साबित हो सकती हैं. चलिए जानते हैं आखिर नास्त्रेदमस ने साल 2019 को लेकर क्या क्या तथ्य बताये हैं-

तृतीय विश्व युद्ध की होगी शुरुआत

नास्त्रेदमस के अनुसार 2019 में तृतीय विश्व युद्ध का आगाज़ हो अज्येगा. इसके बार में उन्होंने 1555 में एक किताब में लिखी अपनी कविता में इसका ब्योरा दिया हुआ था. इस विश्व युद्ध के बारे में कविता में इशारा देते हुए नास्त्रेदमस ने लिखा था कि…

“In the city of God, there will be a great thunder
Two brothers torn apart by Chaos while the fortress endures
The great leader will succumb
The third big war will begin when the big city is burning”

यानि इन पंक्तियों में नास्त्रेदमस ने यह संकेत ज़ाहिर किए हैं कि अगले वर्ष यूएस, निर्थ कोरिया और रूस के बीच तीसरे विश्व युद्ध का आगाज़ होगा. इतना ही नहीं बल्कि इस युद्ध के पश्चात सदी का सबसे बड़ा आर्थिक संकट दुनिया को घेर लेगा. नास्त्रेदमस के मुताबिक यह युद्ध कोई छोटा मोटा युद्ध नहीं होगा बल्कि अगले 27 सालों तक चलता रहेगा.

एस्टरॉयड से होगा अंधकार

नास्त्रेदमस के अनुसार अगले वर्ष धरती पर ऐसा सूर्य ग्रहण लगेगा कि उसकी गर्मी से अँधेरी रात हो जाएगी. इस सूर्य ग्रहण के बाद धरती पर एक आकाशीय पिंड गिरेगा जिसे दिन के उजाले में भी देखा जा सकेगा. इन पंक्तियों के भावार्थ समझाने वाले व्याख्याकारों के अनुसार धरती पर गिरने वाले इस एस्टरॉयड अर्थात पिंड से भयंकर विनाश होगा. उनके अनुसार 2019 में गिरने वाला यह एस्टरॉयड मानवता पर एक बुरा प्रहार साबित होगा जिसके बाद कईं प्रकार की कुदरती आपदाएं मनुष्य को घेर लेंगी.

बदल जाएगी पृथ्वी की सतह

जलवायु में आने वाले इस अंतर से धरती पर तापमान लगातार बढ़ता चला जाएगा और बहुत सारे ग्लेशियर पिघल जाएंगे जिसके कारण पृथ्वी पर हडकंप मच जाएगा. इसके बारे में भविष्यवाणी करते हुए नास्त्रेदमस ने लिखा था कि, “हम जल के बढ़ते स्तर और पृथ्वी को इसके नीचे बहते हुए देखेंगे”. इस परिवर्तन के कारण लोगों के बीच संसाधनों और मास माइग्रेशन को लेकर विवाद बढ़ते जाएंगे.

News Source

By: Staff on Friday, December 21st, 2018