अगर आपके पास आधार कार्ड है तो ये खबर आपके लिए बहुत जरुरी है! 

मोदी सरकार के सबसे अहम् फैसलों में से एक था आधार कार्ड को हर एक भारतीय नागरिक के लिए एक जरूरी डॉक्यूमेंट बनाना| और जैसा आप जानते हैं, अब आपका आधार कार्ड आपके हर एक जरूरी काम के लिए अति आवश्यक है| और यही कारण है कि अब लगभग हमारे हर एक नागरिक ने आधार कार्ड बनवा लिया है|

और अगर आपके पास भी एक आधार कार्ड है, तो फिर ध्यान से पढ़े, क्योंकि यहाँ UIDAI ने हर एक हिन्दुस्तानी के लिए कुछ जरूरी निर्देश दिए हैं!

अब बिना लैमिनेट किये ही ज्यादा सुरक्षित माना जाएगा आपका आधार कार्ड! 

ये सुनने में कुछ उल्टा सा लग सकता है, लेकिन अब ये सच होने जा रहा है| UIDAI के मुताबिक़ आधार कार्ड को लैमिनेट करने के बाद कार्ड का QR कोड खराब हो जाता है| और ऐसा होने पर जिस व्यक्ति का वो आधार कार्ड है, उसकी निजता खतरे में आ जाती है|

यूँ मानिए कि लेमिनेशन होने के बाद आधार कार्ड का QR कोड कुछ दब जाता है और उतने अच्छे से रीड नहीं किया जा सकता| और ये कोड खराब होने पर कार्ड धारक की निजी सूचना और डाटा दूसरे लोगों के पाद पहुँचने का भी खतरा बन जाता है| और यही  है कि UIDAI ने साधारण कागज़ पर डाउनलोड किये गये आधार कार्ड को पूरी तरह से इस्तेमाल के लिए वैलिड बताया है|

UIDAI ने जारी किये अपने निर्देश में कहा है –

“क्विक रिस्‍पांस कोड या QR कोड के काम न करने पर प्‍लास्टिक या पीवीसी आधार स्‍मार्ट कार्ड कई बार इस्‍तेमाल के लायक नहीं रहता है. उसे गलत तरीके से प्रिंट करने के कारण यह समस्‍या सामने आती है.इसके अलावा संवेदनशील सूचनाएं भी गलत लोगों के हाथों में जाने का खतरा रहता है”.

वहीं यूआईडीएआई के CEO अजय भूषण पांडे ने आधार स्‍मार्ट कार्ड को बैन कर दिया है. उन्होंने बताया  –

“सरकार ने कभी भी आधार कार्ड को स्‍मार्ट कार्ड में बदलने की बात सोची भी नहीं थी.गलत तरीके से आधार कार्ड को प्रिंट करना क्रिमिनल ऑफेंस है|” 

और अगर आपको याद हो तो कुछ समय पहले ख़बरें आयीं थीं कि सिर्फ 500 रूपए के बदले करोड़ों लोगों की आधार सम्बंधित जानकारी दी जा रही थी| और अफवाह थी कि ये नेटवर्क चलाने वाला 500 लेकर लॉग इन क्रेडेंशियल देता था| लेकिन फिर UIDAI ने इसका खंडन करते हुए केस भी दर्ज करवाया था!

Source: Jansatta

By: Sharma on Wednesday, February 7th, 2018