ये 4 चीज़ें भूल से भी किसी को ना बताएं, वरना असफलता पड़ेगी भारी

इस दुनिया में हर कोई सफलता पाने के लिए दिन दुगुनी रात चौगुनी मेहनत करता है. लेकिन सफलता पाना कोई बच्चों का खेल नहीं है. बड़े-बड़े लोग सफलता पाने के चक्कर में कईं पापड़ बेल चुके हैं. दरअसल, आज के इस महंगाई भरे दौर में पैसा ही सबकी पहली और अहम जरूरत बन चुका है. ऐसे में बहुत से लोग अपनी इंसानियत भुला कर पैसे के पीछे पागल हो चुके हैं. लेकिन आज हम आपको 4 ऐसी चीज़ों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिन्हें आप भूल से भी किसी के साथ शेयर ना करें, क्यूंकि आपकी यह बातें आपकी सफलता के रास्ते की सबसे बड़ी रुकावट बन सकती हैं. चलिए जानते हैं आखिर यह बातें कौन कौन सी हैं-

आपके जीवन के लक्ष्य

यदि आप अपने जीवन में सफल होना चाहते हैं तो उसके लिए आपका कोई न कोई लक्ष्य होना बेहद जरूरी है. लेकिन ध्यान रहे दोस्तों, आप अपना लक्ष्य भूल से भी किसी के साथ शेयर ना करें. क्यूंकि जिन्हें आप अपने सच्चे साथी समझ रहे हैं, हो सकता है वही आपका अच्छा ना चाहते हो और आपको सफल होता देख पाना उनके बस की बात ना हो. ऐसे में यदि आप उन्हें अपनी जिंदगी का एम्बिशन बताते हैं तो वह आपका हर बार ध्यान भटकाने की कोशिश करेंगे और आपको आपके फैसले से पीछे हटने की सलाह देंगे. इसलिए आप अपने करियर या लक्ष्य को लेकर अपने परिवार के इलावा किसी तीसरे को ना बताये. क्यूंकि आपके अधिकतर मित्र आपको खुद से आगे बढ़ता देख खुश नहीं हो पाएंगे इसलिए वह आपको मोटीवेट करने की जगह आपकी बची हुई हिम्मत तोड़ने का भी पूरा प्रयास करेंगे.

अपनी निजी जिंदगी

किसी भी व्यक्ति को अपनी निजी जिंदगी के बारे में किसी अन्य शक्स को नहीं बताना चाहिए. दरअसल, कईं बार मनुष्य इतनी परेशानियों में घिर जाता है कि तनाव के चलते वह अपने दोस्तों से शेयर कर देता है. हम अक्सर यह सोचते हैं कि मुसीबत के समय हमारे मित्र या रिश्तेदार हमारी मदद करेंगे और हमे जीने की अच्छी सलाह देंगे. लेकिन लोग हमारे मुंह पर जैसे दिखते हैं, हकीक़त में वैसे नहीं होते. जो लोग हमारे सामने अपनेपन का दिखावा करते हैं, वहीँ हमारी पीठ पीछे हमारी बुराई के पुल बांधते हैं और हमारा मजाक उड़ा कर बातें इधर की उधर करते हैं.

आपके अच्छे कार्य

हम में से अधिकतर लोग अपनी तारीफ़ सुनना और करवाना बेहद पसंद करते हैं. लेकिन आपने वह कहावत तो सुनी ही होगी कि ,”नेकी कर दरिया में डाल”. यानि कभी भी अपनी नेकी या अच्छे कार्य किसी को ना बताएं. क्यूंकि असली तारीफ़ वही है, जो लोग आपकी करें, ना कि आप खुद अपनी तारीफ़ बटोरने के लिए लोगों को अपने कार्य गिनवाएं. ठीक इसी प्रकार यदि आप किसी व्यक्ति की बुरे समय में मदद करते हैं तो कभी भी उस व्यक्ति को या किसी अन्य को उस मदद के बारे में ना बताएं. क्यूंकि वह मदद भगवान कभी भी नहीं मानते, जो हम दूसरों को जता कर या नीचा दिखा कर करते हैं.

आपके रहस्य

सीक्रेट्स यानि रहस्य ऐसी चीज़ है, जो हम किसी के साथ जल्दबाजी में बाँट तो देते हैं लेकिन बाद में हमारे मन में यही पछतावा रहता है कि आखिर हमने यह बात उसको बताई तो बताई क्यों? दरअसल, हम जिन्हें अपने सच्चे मित्र समझ कर अपने रहस्य शेयर करते हैं वह एक ना एक दिन हमारे रहस्य किसी तीसरे तक जरुर पहुंचा ही देते हैं या फ्रीर हमारे बुरे समय में हमे उन सीक्रेट्स का हवाला दे कर वह हमे नीचा दिखाते रहते हैं.

News Source

 

 

By: Staff on Tuesday, December 25th, 2018