ऐसी बात आई है सामने कि पूरा तख्ता-पलट हो जाएगा ! असल में…

जम्मू-कश्मीर के कठुआ में आठ साल की बच्ची के साथ हुए कुकर्म की घटना ने मानवता को तार-तार कर दिया है. मानवीय सवेदनाओं की बात करने वाले भारतीय समाज में आज मानसिकता का स्तर निचले स्तर पर आ गया है. साथ ही इस मामले को हिन्दू-मुस्लिम में बांटने वाले लोग और राजनीति करने वाले लोग भी अपने सबसे निचले स्तर पर गिर गए हैं. यहाँ अब लोगों की आँखों में दया से ज्यादा वहशीपन दिखता है और अपनी हवस को पूरा करने के लिए लोग सारी आमानवियता अपना रहे हैं. ऐसे लोगों को परिभाषित करने के लिए घृणा जैसा शब्द भी बहुत छोटा लगता है. अब कठुआ मामले को लेकर एक बड़ा खुलासा किया जा रहा है.

कठुआ रेप मामले को लेकर ABP न्यूज़ चैनल पर दिखाई गई रिपोर्ट देखने के बाद आप आप भी क्राइम ब्रांच की रिपोर्ट पर विश्वास नहीं करेंगे. आपको बता दें कि मासूम के साथ गैंगरेप की घटना के कारण चर्चा में आया जम्‍मू-कश्‍मीर का रासना गांव घने जंगलों से घिरा हुआ है. इस जंगल में घोड़े और अन्‍य जानवर घास खाने आते हैं। इसी के बीच स्थित है बाबा कालीवीर मंदिर. जम्‍मू-कश्‍मीर पुलिस के चार्जशीट के मुताबिक इसी मंदिर में आठ वर्षीय बच्‍ची को नशे की हालत में रखा गया और कुछ लोगों ने उसके साथ गैंगरेप किया.

आप वीडियो में देख सकते हैं इस मामले पर गाँव वालों का क्या कहना है :

आपको बता दें कि यह मंदिर एक मंजिला है. इसमें तीन दरवाजे हैं और उतने ही ताले लगे हैं. मंदिर के ढांचे को देखकर लगता है कि इसमें किसी को छिपाना बेहद मुश्किल है. मुख्‍य आरोपी संजीराम से जुड़े 12 ब्राह्मण परिवारों में से एक के सदस्‍य धर्मपाल शर्मा ने कहा कि तीन गावों के पास इस मंदिर की चाभी है. उन्‍होंने कहा:

तीन गांवों के लोग यहां पर पूजा करने आते हैं. गाँव के लोग भी समय-समय पर यहाँ दर्शन करने आते रहते हैं तो फिर यहाँ रेप कैसे हो सकता है.

इसी के साथ ही मुख्‍य आरोपी संजी राम की बेटी मोनिका शर्मा ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि “यह कहना शर्मनाक है कि एक बुजुर्ग व्‍यक्ति ने अपने बेटे को यूपी के एक कॉलेज से बुलाया ताकि वह एक मासूम बच्‍ची के साथ बलात्‍कार कर सके. मेरे पिता निर्दोष हैं. इस मामले की निष्‍पक्ष जांच होनी चाहिए. वहीँ जाँच टीम ने चौ. चरण सिंह कॉलेज में भी जाँच की लेकिन कॉलेज प्रशासन का कहना है कि इस हत्या वाले दिन विशाल कॉलेज में परीक्षा दे रहा था.

जी हाँ आपको बता दें कि कभी- कभी मीडिया का एक विशेष समूह ऐसी ख़बरों को आपको नहीं दिखाएगा. इस लिए एक देशभक्त होने के नाते हमारा फर्ज बनता है कि इस खबर को ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुँचाया जाए. जहाँ तक संभव हुआ मीडिया ने तो आपको ये खबर दिखा दी, अब ये आपके हाथ में है कि इस खबर को हर देशभक्त के पास पहुँचाना है. जिससे उस मीडिया समूह को भी पता चल जाए कि देशभक्तों में कितना दम है. इसको इतना फैला दो कि मीडिया की नाक में दम कर दे.

Source: Sacchi Khabar

By: Shah on Monday, April 16th, 2018