आपने कन्हैया कुमार की ऐसी बेइज्जती कभी नहीं देखी होगी…

आज के दौर में देश में जितने बड़े शैक्षणिक संस्थान हैं, उनमे जवाहर लाल विश्वविद्यालय यानी JNU को भी शुमार किया जाता है| लेकिन, अब यह हमारा सौभाग्य नहीं, दुर्भाग्य बन गया है| क्योंकि अब आप सीना चौड़ा करके इसे एक शिक्षा के मंदिर के रूप में प्रस्तुत नहीं कर सकते| वजह?

वजह है ऐसे असामाजिक और राष्ट्र-विरोधी तत्व जो इस यूनिवर्सिटी के कैंपस में पनपे हैं| जिस तरह से कन्हैया कुमार और शेहला राशिद, जो कि खुद को लोगों के लिए लड़ने वाले छात्र नेता बताते हैं, ने  देश और दुनिया में सरकार और देश विरोधी बातें कही हैं, उस से विश्व मंच पर हमारी फजीहत ही हुई है| सरेआम इन्होने जैसे छात्रों को देश के ही खिलाफ भड़काया है, वह निंदनीय है|

लेकिन, फिर देश में ऐसे भी लोग मौजूद हैं जो दिल से सच्चे देशभक्त हैं और ऐसे बुजदिल गद्दारों को बख्शने पर विश्वास नहीं करते| और ऐसे ही कुछ देशभक्तों ने कन्हैया कुमार और उसके जैसे दूसरों को उनकी सही औकात याद दिला दी|

देश के शासक को देश से ऊपर लाकर खडा कर दिया गया है – कन्हैया कुमार 

कन्हैया ने हमेशा ही मोदी और मोदी सरकार के खिलाफ बात की है, फिर चाहे वह उसी सरकार के अंतर्गत लोगों के पैसों से पढाई भी कर रहा है और खा भी रहा है| और मोदी जी पर इस तरह से हमला करने के लिए एक सच्चे हिन्दुस्तानी ने उसे दो टूक जवाब देकर हवा से जमीन पर लाकर रख दिया|

कन्हैया ने यहाँ तक कि बुजदिल पाकिस्तान को सर्जिकल स्ट्राइक के रूप में दी गए मुहतोड़ जवाब का भी सरेआम विरोध किया| इस सब से गुस्साए इस शख्स ने कन्हैया को कोर्ट के फैसले का हवाला देते हुए सरेआम गद्दार और देश के लिए ‘बिमारी’ कहकर संबोधित किया|

देखिए कैसे –

और जिस तरह से भरी सभा में कन्हैया को बेनकाब किया गया, कह सकते हैं कि आज तक ऐसा मुहतोड़ जवाब उसे किसी ने नहीं दिया था| लेकिन अब उसे शायद यह सबक जिन्दगी भर न भूलेगा, और सबसे बड़ी बात, लोगों को भी उसकी सच्ची मालूम पड़ी है|

By: Sharma on Saturday, April 21st, 2018