केंद्रीय विद्यालय को लेकर चल रहे विवाद पर इस लड़की का क्या कहना है सुनेंगे तो सभी हैरान रह जाएंगे!

अब क्या एक स्कूल को भी धर्म से जोड़ कर देखा जायेगा? 

हमारे देश में धर्म के नाम पर राजनीती किस हद तक की जाती है, इसका सबसे बड़ा उदाहरण है आजकल चल रहा केन्द्रीय विद्यालय विवाद| और अगर इसकी तह आपने अभी तक नहीं छानी है, तो ये विडियो देखिये और धर्म के इन ठेकेदारों के लिए प्रार्थना कीजिये कि किसी तरह इनकी सोच बदल जाए!

आपको बता दें कि बीते बुधवार देश की सर्वोच्च अदालत ने केंद्र सरकार को एक ‘जनहित याचिका’ को लेकर एक नोटिस भेजा है| इस याचिका का सम्बन्ध है पूरे देश में चल रहे केन्द्रीय विद्यालयों की कार्यप्रणाली से!

क्या सोचकर ये Public interest litigation फाइल की है इस याचिकाकर्ता ने?

हैरानीजनक बात ये है कि याचिकाकर्ता को लगता है कि सारे देश के सेंटर स्कूलों में जो प्रार्थना बोली जाती है, वो सही नहीं है| उनके मुताबिक़ ये प्रार्थना सीधे तौर पर हिंदुत्व का प्रचार करती है और किसी भी सरकारी संस्थान में ऐसा किया जाना कत्तई भी बर्दाश्त नहीं किया जाना चाहिए|

और अब इस मामले में देशभर के लोग अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं| और इस सब के बीच बेहद लोकप्रिय हो रहा है एक लड़की का वीडियो, जिसमे उसने इस सारे विवाद का जवाब दिया है|

इस लड़की का नाम है रितिका ढाका और ये केन्द्रीय विद्यालय मुरादाबाद में दसवी कक्षा की छात्रा है| क्योंकि रितिका का ये जवाब वाकई बेहद शानदार है, ये सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है| लोगों ने इस लड़की का जमकर समर्थन किया है|

आपको बता दें कि जो प्रार्थना केन्द्रीय विद्यालयों में बोली जाती है, पहले उसकी पंक्तियाँ ये लड़की सुनाती है और फिर उनका अर्थ भी समझाती है|

और उसके बाद ये लड़की एक ऐसा सवाल उठाती है जिसका जवाब धर्म के ठेकेदारों के पास आपको कभी नहीं मिलेगा – ‘वतन के वास्ते जीना और वतन के वास्ते मरना’ में किस प्रकार हिन्दू धर्म की बात हो रही है?




By: Sharma on Thursday, January 11th, 2018

get I Suppport Namo app here